• अंतिम अपडेट:Wednesday 19 July 2017, 11:35:37 IST

User Rating: 0 / 5

Star InactiveStar InactiveStar InactiveStar InactiveStar Inactive
 
बाएं से अर्पित रंका, रजत टोकस, एकता कपूर, श्वेता बासु प्रसाद, पापिया सेन गुप्ता व मनोज कोल्हाटकर
बाएं से अर्पित रंका, रजत टोकस, एकता कपूर, श्वेता बासु प्रसाद, पापिया सेन गुप्ता व मनोज कोल्हाटकर

मुंबई, 22 सिंतबर, 2016 (न्यूज टीम): दुनिया जानती है कि चंद्रगुप्त का नाम भारतीय उप-महाद्वीपों को संगठित कर एक राज्य में लाने के लिए मशहूर है लेकिन बहुत से लोग कहानी के दूसरे हिस्से से अपिरिचित हैं। उसकी ताकत और उपलब्धियों से बहुत लोग परिचित हैं लेकिन इसके पीछे की ताकत से बहुत कम लोग परिचित होंगे। पहली बार महागाथा चंद्र-नंदिनी के जरिए दुनिया को चंद्रगुप्त और उनकी योद्धा पत्नी राजकुमारी नंदिनी की कहानी के बारे में पता चलेगा। यह चंद्रगुप्त और नंदिनी की कभी न कही गई प्रेम कहानी है। नंदिनी ने उस इंसान से प्यार किया जिसने उसकी हर चीज को बर्बाद कर दिया और उसके परिवार को खत्म कर उससे शादी की। यह नाटकीय कहानी शाही जोड़ी की कहानी और चंद्रगुप्तमौर्य की जिंदगी के अनछुए पन्ने को पलटेगी जहां दो एक दूसरे से नफरत करने वाले लोग एक दूसरे के साथ आते हैं।

चंद्रगुप्त का किरदार निभाने वाले रजत टोकस इससे पहले भी कई लोकप्रिय माइथोलॉजिकल किरदार निभा चुके हैं और इस नई चुनौती के लिए पूरी तरह तैयार हैं। वह मौर्य साम्राज्य का गठन करने और साथ ही अपने सबसे बड़े दुश्मन की बेटी नंदिनी से एक जटिल रिश्ते में बंधने वाले किरदार को लेकर उत्सुक हैं। मूरा का बेटा चंद्रगुप्त पैदा होने के बाद एक गांव में एक गौशाला का रक्षक बन गया जिसे उसके बचपन में कई बार बेचा खरीदा गया। इस बचपन ने उसके अंदर नफरत भरी जिसमें सिर्फ अपने गुरू चाणक्य और मांमूरा के लिए स्नेह था। उस लड़की से मिल कर उसके अंदर मुहब्बत नहीं जागी जिसे भविष्य में उसकी पत्नी बनना लिखा था। रजत टोकस ने कहा, ‘‘मैं ताकतवर सम्राट चंद्रगुप्त मौर्य का किरदार निभाने को लेकर बेहद उत्सुक हूं। उसकी और नंदिनी की कहानी टीवी पर अब तक दिखे शोज से काफी अलग है। यह नफरत से लिखी गई मोहब्बत की दास्तान है।’’

श्वेता बासु प्रसाद नंदिनी का किरदार निभा रही हैं जो अपने पिता की आंखों का तारा है और जिसका लालन पालन अपने आठ भाइयों जैसा ही हुआ है। युद्ध में कुशल नंदिनी की दुनिया अपने परिवार और सगों के बीच है जिन्हें वह अपने सामने मरता हुआ देखती है। उसके पिता को गद्दी से उतारने और उसका राज्य जीतने वाला चंद्रगुप्त मौर्य उसका सबसे बड़ा दुश्मन है जिससे शादी करना उसकी तकदीर में लिखा है। नंदिनी बदला लेने के इस अनूठे रास्ते पर चल पड़ती है जहां उसका सबसे बड़ा दुश्मन उसका पति होने वाला है। अपने किरदार के बारे में बताते हुए श्वेता बासु प्रसाद उर्फ नंदिनी ने कहा, ‘‘मैं इस शो के जरिए लम्बे समय बाद टीवी पर वापसी कर रही हूं। नंदिनी एक सशक्त किरदार वाली राजकुमारी है जिससे आज की हर महिला खुद को जोड़ कर देखेगी।’’

ठस भव्य शो में अर्पित रंका राजा पद्मानंद के किरदार में, पापिया सेन गुप्ता मूरा, मानसी शर्मा रानी अवंतिका और मराठी कलाकार मनोज मुरलीधर कोल्हाटकर चाणक्य के किरदार में हैं।

मौर्य काल को जीवंत करने के लिए शो से सेट से लेकर पोशाक, आभूषण, भाषा, उच्चारण और रीति-रिवाजों को दिखाने के लिए विस्तृत शोध और कठिन मेहनत की गई है। यह शो दर्शकों का भरपूर मनोरंजन करेगा।

चंद्र-नंदिनी 10 अक्टूबर से रात 8.30 बजे सोमवार-शुक्रवार स्टार प्लस पर शुरू हो रहा है।

Other articles in स्टार प्लस

मुझे लैला के रोल के लिए ऑडीशन देना पड़ा - निकी वालिया 19 Jul 2017

मधु शाह को आरम्भ में एक प्रमुख भूमिका में लिया गया् 12 Jul 2017

सृष्टि जैन ने असली जिंदगी के सब्जी विक्रेताओं के साथ समय बिताया 11 Jul 2017

‘इश्कबाज़’ का प्रसारण अब एक घंटे होगा 07 Jul 2017

लोग पर्दे पर ‘बेचारी‘ लड़कियों को देखना पसंद करते हैं - शिवानी तोमर 23 Jun 2017

- Entire Category -